ऑफिस वाली लड़की के साथ प्यार की कहानी | Latest Love Story With Office Girl

Latest Love Story With Office Girl.

ऑफिस वाली लड़की
ऑफिस वाली लड़की

यह कहानी मेरी ऑफिस की है। जब मैं टेक्नीकल से सम्बंधित एक ऑफिस खोली थी।उस समय मुझे एक छोटे से स्टाफ की जरुरत थी। तब मैंने अपने दोस्त से कह कर मेरी ऑफिस में काम करने के लिए कई लड़किया बुलवाई। इसी बीच मेरी ऑफिस में काम करने वाली एक लड़की को मुझसे प्यार हो गया था। यह कहानी बहुत की रोमांस से भरी है। तो आप भी इस कहानी के अंत तक बने रहिएगा। आप में से किसी न किसी को भी ऑफिस की किसी  लड़की या लड़के से प्यार हुआ होगा। तो आप भी इस कहानी को पढ़कर अपने प्यार की यादो को फिर से ताजा कर सकते हो।ऑफिस वाली लड़की

यह कहानी उस समय से शुरू है जब मेरे सारे दोस्तों ने अपना -अपना बिजनेस शुरू कर कर था उनमे से केवल एक मैं ही ऐसा था जो कुछ नहीं करता था। लेकिन मेरे एक दोस्त के कहने पर मैंने भी अपनी खुद ऑफिस शुरू कर दी। मैंने ऑफिस को बना ली थी लेकिन मुझे उसमे काम करने और काम करवाने के लिए एक छोटे से स्टाफ की जरुरत पड़ी।ऑफिस वाली लड़की

कुछ दिनों तक मैं अकेला ही अपनी ऑफिस जाता और कुछ वहा बैठा रहता और फिर अपने दोस्तों के पास मजे लेने के लिए चला जाता। ऐसे में मैंने 10 दिन निकाल दिए लेकिन फिर मैंने अपने एक दोस्त को सारी बाते बताई। जब उसने मेरी ऑफिस के लिए कई लड़कियों को मेरे पास भेजा। वे लड़किया को मैंने अपनी ऑफिस के लिए उन सब लड़कियों को अगल अगल काम के लिए रखा।ऑफिस वाली लड़की

वे सभी लड़किया अपने -अपने काम बहुत ही अच्छी थी। धीरे -धीरे मेरी ऑफिस में टेक्नीकल से सम्बंधित बहुत से काम होने लगे। सब अपने -अपने काम को अच्छे से कर रहे थे। मैं भी कुछ ही दिनों में अपने काम में व्यस्त हो गया। धीरे -धीरे मैंने अपने दोस्तों के पास जाना भी छोड़ दिया। जब वे लोग मेरे पास कॉल करके बोलते तब मैं कभी -कभी उनके पास चला जाता।ऑफिस वाली लड़की

मैं कुछ ही दिनों में ऑफिस को बड़ी करने वाला था। तब मैंने अपने स्टाफ से इस बारे में बात करी तो उन्होंने भी मुझे इस काम के लिए हौसला दिया। फिर मैंने अपने पुराने वाले स्टाफ से ही और मेंबर लाने को कहा तब मेरी ऑफिस में काम करने वाली एक लड़की ने मुझसे कहा की  उसके मामा की लड़की के बारे में बताया की वो लड़की टेक्नीकल से सम्बंधित उसे अच्छा ज्ञान यदि वो हमारी ऑफिस में काम करने के लिए आ जाएगी तो बहुत अच्छा होगा।ऑफिस वाली लड़की

हमारी कंपनी को वो बहुत फायदा दे सकती है। उसके ऐसा कहते ही मैंने उस लड़की से उसकी मामा की लड़की को लेकर आने की कही। तब अगले दिन वो लड़की अपने मामा की लड़की को लेकर ऑफिस आयी। आने के बाद हम एक जगह पर बैठ गए।  तब उस लड़की ने टेक्नीकल से सम्बंधित अच्छे -अच्छे प्लान बताये। वो प्लान हम सब को बहुत पसंद आये।ऑफिस वाली लड़की

उसी के साथ ही मैंने उस लड़की को अपनी ऑफिस में काम करने के लिए रख लिया।वो धीरे -धीरे ऑफिस में अपने काम को अच्छे से करने लगी। कुछ ही महीनो में मेरी कम्पनी मेरे सारे दोस्तों की कंपनी से अच्छे चलने लगी। मार्किट में मेरी कंपनी का नाम होने लगा। सब ठीक चल रहा था। वो लड़की सब को अपने हिसाब से अच्छे -से अच्छे तरीके बताने लगी। उसके काम को देखकर मैंने उसे मेरी कंपनी की मैनेजर बना दिया।ऑफिस वाली लड़की

ऑफिस वाली लड़की
ऑफिस वाली लड़की

जब मैंने उसे अपनी कंपनी की मैनेजर बना दिया जब वो अपने काम को और अच्छे से करने लगी। फिर एक दिन उसने मेरी केविन में आकर मुझसे टेक्नीकल से सम्बंधित कईबाते करी फिर हम दोनों ने मिलकर एक प्लान बनाया की हर सप्ताह अपने स्टाफ के साथ एक मीटिंग रखी  जाएगी उसमे सब को टेक्नीकल से सम्बंधित एक सप्ताह तक हर किसी को अगल -अगल काम दिया जायेगा। उस लड़की का वह प्लान सक्सेज रहा। कुछ ही दिनों में हमारी कम्पनी बहुत आगे पहुंच गयी।ऑफिस वाली लड़की

उस लड़की के इस प्लान के हमारी कम्पनी को अच्छा फायदा होने लगा। दो महीनो में हमे उससे पैसो का फायदा भी हुआ। मैंने फिर उन पैसो से गरीब लोगो के लिए एक नयी कम्पनी खोलने का प्लान बनाया जिससे की गरीब लोग मेरी कम्पनी में काम करने अपने परिवार के अच्छे से पालन कर सके। इस प्लान किओ मैंने अपने स्टाफ के साथ शेयर किया। तब सब ने मेरे इस प्लान का समर्थन किया।ऑफिस वाली लड़की

इसी बात को मैंने अपने दोस्तों को बताया तो उन्होंने मुझसे इस काम के लिए मना कर दिया। उन्होंने मुझसे अपनी बातो से स्वार्थी बना दिया लेकिन मैंने उनको बातो पर ध्यान नहीं दिया और गरीबो के लिए कुछ अच्छा करने के लिए ठान लिया।  मैंने उसके लिए कुछ महीने रुकने की सोची जिससे की कम्पनी अच्छे से और फायदा कर सके। फिर मैंने अपने स्टाफ के साथ बाहर घूमकर आने की सोची तब हम सब घूमने के लिए बाहर निकल गए।ऑफिस वाली लड़की

वो लड़की भी उस समय मेरे साथ घूमने के लिए गयी। हम सब घूमने के लिए दिल्ली गए। मैं वहा पर भी अपने अगले कम्पनी के बारे में ही सोच रहा था। मेरी ऑफिस के सारे स्टाफ भी भी मेरे साथ एक पार्क में बैठकर बाते कर रहे थे। सब एक दूसरे से मजाक कर रहे थे मैं उस सब में ऐसे घुल -मिल गया था। हम कुछ दिनों तक दिल्ली में घूमते रहे। दिन भर घूमते रहते। और रात को आकर घूमकर आते उसकी बाते करते।ऑफिस वाली लड़की

मैं दिल्ली में कई गरीब लोगो को रोड पर धुप में रहते हुए देखता तो मेरी आखे भर आती। क्योकि उनके पास कोई रोजगार नहीं था वे काम भी करे तो क्या करे जिससे वे अपने परिवार को अच्छे से रख सके। मैंने फिर से ऑफिस आने से पहले दिल्ली में सब को एक साथ बुलाया और उनसे गरीब लोगो की वो फोटो दिखाई जो बाहर घूमते समय मैंने खींची थी। उस समय मैं ज्यादा उम्र का नहीं था उस एमी मेरी 22 थी। मैंने सब को समझाया की आजकल के जमाने में कोई किसी साथ नहीं देता।ऑफिस वाली लड़की

यदि मैंने अपने दोस्त के कहने पर अपनी कम्पनी शुरू नहीं करता तो मै भी आज और लोगो की तरह बेरोजगार घूमता रहता था। लेकिन अब मैं अपने जैसे कई लोगो को ऐसे रोड पर घूमने नहीं दुगा। मैं उनके कुछ ऐसा करुगा जिससे वे अपने भविष्य के लिए कुछ कर सके। मैंने मेरे स्टाफ को अगले कदम के लिए सब बता दिया था। और सब ने उस समय मेरी बात का स्पोर्ट भी किया था। अगले सुबह हम सब फिर से ऑफिस आ गए।ऑफिस वाली लड़की

अगली कंपनी के शुरू करने के बाद लड़की को हुआ प्यार।ऑफिस वाली लड़की के साथ प्यार की कहानी | Latest Love Story With Office Girl

ऑफिस वाली लड़की
ऑफिस वाली लड़की

मैंने सब को एक दिन अपने केविन में बुलाया और तब सब को सारी बाते समझा दी थी।  अगले वो दिन था जब मैं अपनी दूसरी कम्पनी शुरू करने वाला था। सब लोग अपने घर जा चुके थे। मैं भी ऑफिस बंद करके अपने घर आ गया था। तभी उस लड़की मुझे कॉल किया जिसे मैंने अपनी कम्पनी की मैनेजर बनायी थी। उसके कॉल करने के बाद मैं उससे मिलने के चला गया। उसने मुझे अपनी लोकेशन भेज दी।ऑफिस वाली लड़की

उसने मुझे उनके घर के पास वाले एक पार्क की लोकेशन भेजी थी। मैं उस पार्क में जाकर बैठ गया और वहा पर सोचने लगा की की इतनी रात को कोनसा काम पड़ गया जिससे वह लड़की मुझे अकेले में बुला रही है। कुछ समय बाद  वो लड़की मेरे पास आ गयी। तब मैंने उससे मिलने का कारण पूछा तब उसने मुझसे कल खुलने वाली कंपनी के लिए सबसे अच्छे प्लान बताये मैकन मैं उसकी बातो से बहुत खुश हुआ। उसके बाद हम दोनों वहा पर बैठकर बाते कर रहे थे।

काफी देर बात करने के बाद जब मैंने उससे अपने घर जाने की बात कही तो उसने कहा की वो मुझसे प्यार करने लगी है। उसकी बातो को सुनकर मैं कुछ समय के लिए चुप हो गया। उस लड़की ने बताया की उसके पापा का भी यही सपना था वो एक दिन गरीबो के लिए कुछ ऐसा करे जिससे रोड पर रहने वाले लोगो को दो वक्त का खाना और रहने के लिए मकान मिल जाये। वो सपना वो हर कीमत पर पूरा करना चाहती थी।ऑफिस वाली लड़की

उसके पिताजी गरीबो के लिए सरकार से लड़ते हुए एक आंदोलन  मर गए थे। उसने कहा की वो मैंने उसके प्यार की स्वीकार नहीं किया तो वो मेरी कम्पनी को छोड़कर देय चली जाएगी और फिर कभी लौटकर मेरे पास नहीं आएगी। उसके ऐसा कहने पर मैंने उसे काफी समझाया लेकिन उसने मेरी एक बात नहीं मानी। फिर वो कुछ दूसरी दुरी पर जाकर रोने लग गयी।

तब मैंने सोचा यदि वो लड़की मेरी कम्पनी में नहीं आती तो मैं आज अपनी कंपनी को इतना आगे नहीं बड़ा सकता था यदि लड़की गयी तो मैं भी गरीबो के लिए कुछ नहीं कर पाउगा। फिर मैंने उस लड़की को रोने पर चुप करवाया और उसके प्यार को स्वीकार कर लिया। मेरी उस बात को सुनकर वो बहुत खुश हुई उसने मुझे अपनी बाहो में भर लिया। और मुझे थैंक्स कहा।ऑफिस वाली लड़की

हम दोनों ने  उस रात काफी देर तक बाते करी और फिर अपने -अपने घर आ गए। अगली सुबह होते ही मैंने अपने सभी स्टाफ को एक एक जगह बुलाया और उन्हें सब बाते फिर से समझा दी। हम सब ने अगले दिन ही सब मीडिया वालो को ये खबर पंहुचा दी थी हम गरीबो  के लिए एक कम्पनी खोलने वाले है। जिसमे काम करके वो अपने परिवार का पालन कर सकते है। उसमे हमने यह भी लिखवाया की हम इस कम्पनी शुरुआत किसी गरीब के हाथो से करेंगे जब तब मीडिया  खबर पंहुचा दी थीऑफिस वाली लड़की

हम सब अपने स्टाफ के साथ उस जगह पर जा पहुंचे जहा हम नई कम्पनी खोलने वाले थे। हम वहा पर पहुंचे ही थे की हम से पहले कई वहा पर कई लोग मौजूद थे। कुछ ही समय में वहा पर बहुत सारे लोग इकक्ठा हो गए। फिर हमने एक गरीब बच्चे के हाथो से कम्पनी की शुरुआत की। जिसको भी हमारी कम्पनी में काम करना था। उन सबको काम दिया गया। मैं बहुत खुश था। वो लड़की भी बहुत खुश थी की आज उसके पिताजी का सपना पूरा हो गया।ऑफिस वाली लड़की

धीरे -धीरे कम्पनी पहले की तरफ अच्छे से चलने लगी। उस लड़की ने कुछ ही महीनो में उस कम्पनी को अच्छे से चला दिया मैंने उसे उस कम्पनी की भी मैनेजर बना दिया। मेरा सारा स्टाफ उस बात से खुश थे। लाखो गरीबो को हमारी कम्पनी रोजगार देने लगी। धीरे धीरे सब लोग मेरी कम्पनी में काम करके अपने परिवार का पालन करने लगे। मैं अधिकार टाइम अपनी नई कम्पनी में बीतता वो लड़की भी मेरे साथ नई कम्पनी में आती। हम दोनों बहुत खुश थे। और एक दूसरे से शादी से करने वाले थे। सब कुछ ठीक चल रहा था।

ये थी मेरी ऑफिस वाली लड़की के साथ प्यार की कहानी के साथ प्यार की कहानी। आप सब को अच्छी लगी होगी। ऐसी ही और कहनी पढ़ने के लिए हमारी वेबसइट 102generic .com से जुड़े रहे। यहाँ आपको हर दिन कुछ नया  पढ़ने के लिए मिलेगा।ऑफिस वाली लड़की

Read Also –2022 Best Status In Hindi | आपकी फेसबुक के लिए सबसे अच्छे स्टेटस

Read Also-IPL 2022 Ki Sabse Khatrnak Team Bani Sunrisers Hyderabad Know | Today IPL Latest News

Leave a Comment


 

x