पुलिस वाले की लड़की साथ प्यार की कहानी।Hindi Love Story.

पुलिस वाले की लड़की साथ प्यार की कहानी।

प्यार की कहानी
प्यार की कहानी

पुलिस वाले की लड़की साथ प्यार की कहानी।Hindi Love Story.- यह कहानी उस समय की जब मुझे एक पुलिस वाले की लड़की से प्यार हुआ था। उस समय वो हमारे घर के आगे वाले रास्ते से होकर स्कूल के लिए जाती थी। उस समय मैं अपनी पढ़ाई पूरी जयपुर से पूरी करके कुछ दिनों के लिए अपने घर आया था।

मुझे आज भी वो दिन याद है जब मुझे एक पुलिस वाले की लड़की से प्यार हुआ है। मैं जयपुर से अपनी पढ़ाई पूरी करके अपने घर आया था। उस समय काफी सर्दी थी। हमारे घर के आगे होकर एक स्कूल के लिए रास्ता जाता है।

वैसे तो उस रास्ते से उस स्कूल के लिए काफी लड़किया स्कूल के लिए निकलती है। लेकिन एक दिन जब मैं अपने घर की छत पर टहल रहा था। जब मैंने स्कूल के कपड़ो में एक लड़की को स्कूल जाते हुए देखा।
वो उस समय जल्दी -जल्दी स्कूल के लिए जा रही थी।

उसे देखकर लग रहा था जैसे वह स्कूल के लिए लेट हो गयी हो। मैं जब तक उसकी और देखता रहा जब तक वो स्कूल के अंदर न चली गयी हो।

स्कूल की छुट्टी की छुट्टी के बाद वो उसी रास्ते से होकर अपने घर की और जा रही थी। मैं उस समय अपने घर की बालकनी में बैठकर उसे देख रहा था। तभी उसकी नजर मेरी और पड़ी। कुछ सेकंड के लिए उसने मेरी और देखा और फिर अपनी दोस्तों के साथ अपने घर चली गयी।प्यार की कहानी। 

वो उसे समय स्कूल के कपड़ो में सरस्वती देवी लग रही थी। पता नहीं क्यों जब से उसे देखा था तब से मैं उसके बारे में ही सोच रहा था।शाम को मैं अपने दोस्त के साथ बाहर घूमने के लिए चला गया। उस दिन मौसम भी ठीक था। हम दोनों बाते करते -करते अपने घर से काफी दूर निकल गए थे।

उस समय मैं अपने दोस्त गौरव को पूरी बात बताने ही वाला था की मैने आगे से उसी लड़की को अपने कुत्ते और एक पुलिस वाले आदमी के हमारी और घूमते हुए देखा।
उस पुलिस वाले को देखकर लग रहा था की वो उसके पिता जी है।

वो उस समय हमारे आगे से घूमते हुये निकले उसे समय भी उसने मेरी और देखा। मैने सारी बाते उस समय अपने दोस्त गौरव को बताई।
तब गौरव ने बताया की यह लड़की तो अपने पास वाले स्कूल में पड़ती हैप्यार की कहानी। 

और उसके साथ जो यह आदमी गया है वो एक पुलिस वाला है। गौरव उसके बारे में सब कुछ जानता था। उसने उस लड़की के बारे में सब कुछ बता दिया।
गौरव ने बताया की इस लड़की के पिताजी के अलावा उसके परिवार में कोई नहीं है।

लड़की के पिता और यह लड़की एक दोस्त की तरह रहते है। एक दूसरे से अपनी सारी बाते शेयर करते है।हम, दोनों उस समय उस लड़की की बाते करते -करते अपने घर आ गए। उस रात मुझे सारी रात नींद नहीं आयी।

मैं सारी रात उस लड़की के बाते में सोचता रहा। अगले सुबह मैं उस लड़की को देखने के लिए अपने घर की छत पर चला गया।
वो लड़की उस समय अपनी दोस्तों के साथ हमारे घर के आगे से होकर स्कूल जा रही थी की अचानक फिर से उसकी नजर मेरी और पड़ी।

उसने मुझे फिर से कुछ छण के लिए देखा और फिर वो स्कूल चली गयी।प्यार की कहानी। 
मैं भी उसके स्कूल जाते ही नीचे उतरा और तैयार होकर मैं भी उसके स्कूल में चला गया। मैं आप को बता दू की मैं इस स्कूल से पढ़ाई करके बाहर पढ़ाई के लिए गया हु।वहा जाते ही मैने अपने पूर्व गुरुजनो का आशीर्वाद लिया।

सभी गुरूजी मुझे वहा देखकर काफी खुश हुए मुझे भी स्कूल में जाते ही अपने पुराने पल याद आने लगे। उसी समय मैने वहा पर उस लड़की को बैठे हुए देखा। मुझे जब पता चला की यह लड़की 12 कक्षा में पढ़ती है।

सभी गुरूजी मुझसे वहा पर अच्छा व्यवहार कर रहे थे। ये सब वो लड़की अपनी कक्षा में बैठकर देख रही थी। उस समय सब को एक जगह पर इकट्ठा किया गया। स्कूल के प्रधानाचार्य ने सब` को एक साथ बैठकर मुझे आगे की और बुलाया।प्यार की कहानी। 

प्रधानाचार्य के बुलाने पर मैं आगे की और चला गया वहा जाने के बाद सभी गुरूजी ने मेरी पढ़ाई के बारे में खूब तारीफे की और सब को मेरी तरह बनने को कहा। वो लड़की उस समय भी मेरी और एक नजर से देख रही थी।

सभी गुरुजीओ ने मेरी तारीफ के बारे में पुल बांध दिए। मैं स्कूल में सच्ची गुरुजीओ का आशीर्वाद लेकर बापस अपने घर आ गया। कुछ समय के बाद स्कूल की छुट्टी हुई। मै उस समय अपने घर की बालकनी में कुर्सी लगाकर बैठा था। तभी वो लड़की मेरी और देखते हुए अपने घर की और चली गयी।

कुछ समय बाद शाम होने वाली थी मैं जल्दी से गौरव के घर गया और मैने गौरव को सारी बाते बताई। और कैसे भी उस लड़की से बात कराने के लिए कही। गौरव ने मुझे उस समय साफ -साफ मना करा दिया था।
गौरव ने कहा की यदि उसने उस लड़की से कुछ कहा तो वो अपने पापा से जाकर बोल देगी। और उसे समय इसी बात का डर हम दोनों के अंदर बैठा हुआ था।

लेकिन फिर हम दोनों ने एक प्लान बनाया। जिसमे हमने सबसे पहले उसके करीब दोस्त का पता लगाया। मुझे पता चला की जो लड़की इसकी दोस्त है वो गौरव से प्यार करती है।
लेकिन गौरव उससे प्यार नहीं करता है।अब मेरे पास अपने प्यार को पाने के लिए एक ही रास्ता बचा हुआ था। वो ये था की मैं गौरव को बलि का बकरा बना दू।और उसकी से प्यार करने की बोलू।

यह बात जब मैने गौरव से कही तो उसने मना कर दिया लेकिन जब मैने उसे समझाया और कहा की इसके अलावा हमारे पास कोई रास्ता भी नहीं हैं। मेरे काफी समझाने के बाद गौरव ने हा बोल दी।

लड़के से मिलने बाद हुआ लड़की को प्यार । पुलिस वाले की लड़की साथ प्यार की कहानी।Hindi Love Story.

प्यार की कहानी
प्यार की कहानी

अगली सुबह गौरव ने उस लड़की को बुलाया जो लड़की उससे प्यार करती थी। गौरव के बुलाते ही वो काफी खुश नजर आयी तो जल्दी से गौरव के पास आकर बोली कुछ काम है। उस समय गौरव उसे बुलाकर पास की गली में ले गया और उसने उसे सारी बाते बताई।

गौरव ने उसे सारी बाते बताकर कहा की यदि जैसे तुम मुझसे सच्चा प्यार करती हो वैसे की मेरा दोस्त भी तुम्हारी दोस्त कोमल से प्यार करता है। यदि तुम मुझसे प्यार करती हो तो मेरे दोस्त को भी तुम उसका प्यार दिला दो।प्यार की कहानी। 

मेरे ये सब बोलने पर उसने बताया की कोमल ज्यादातर उसके बारे में ही बाते करती रहती है। जब तुम्हारा दोस्त आशीष स्कूल में गया था। उस समय सभी टीचरों ने मिलकर उसकी तारीफ के पुल बांध दिए थे। उसके बाद से ही वो अधिकतर आशीष के बारे में ही बाते करती रहती है।

गौरव ने ये सब बाते जब मुझे बताई तो मुझे लगा की वो मुझसे प्यार करती है। गौरव ने उस लड़की से कहा की यदि वो आशीष से प्यार करती है जो आज शाम को घूमने के लिए अपने घर से बाहर आ जाये।

मैं और गौरव शाम को बाहर घूमने के लिए चले गए। हम दोनों घूमते -घूमते उनके घर के काफी पास पहुंच गए थे। तब हमने देखा की वो दोनों भी बाते करते हुए सामने से आ रही है। उनको देखकर हम दोनों भी उसी जगह पर रुक गए।प्यार की कहानी। 

जहा हम दोनों खड़े थे वहा पर वे दोनों आकर खड़ी हो गयी थी। उस समय मैं बिल्कुल चुप था। मुझे चुप देखकर गौरव की प्रेमिका गौरव को लेकर आगे चली गयी। अब हम दोनों वहा पर अकेले चुप चाप खड़े होकर एक दूसरे के बोलने का इंतजार करने लगे।

मेरी इतनी हिम्मत नहीं हुई की मैं उससे बोल सकू। फिर उसने ही आगे से मेरा हाथ पकड़ा और मुझे पास में एक सुनशान जगह पर। ले गयी। और फिर उसने उसके बारे में सब कुछ बताया। उसने कहा की उसकी माँ उसे बचपन में ही छोड़ कर चली उसके बाद ही मेरे पापा ही मेरी दुनिया है।

उसने बताया की वो अपने पापा से कोई भी बात नहीं छुपाती है।उसने कहा की यदि मैं उससे प्यार करता हु तो मुझे उससे शादी करनी होगी। और उसके पापा को ये सब बाते बतानी पड़ेगी। मैने भी उसकी सारी बातो पर हा कर दी।

लेकिन हम दोनों के बीच एक शर्त थी की हम ये बात अपने -अपने माता -पिता को खुद बतायेगे। हमारे कुछ समय के बाद वो दोनों भी वहा आ गया। हम चारो ने उस समय एक दूसरे के बारे खूब बाते करी और सभी ने एक दूसरे की मदद करने का वादा किया।प्यार की कहानी। 

हम सब बाते करके वहा से अपने -अपने घर आ गए। सुबह होते ही मैने ये बाते अपनी माँ को बताई।उसने भी ये सब बाते अपने पिताजी को बताई। फिर दोनों परिवारों मिलकर हम दोनों की शादी करा दी। हम दोनों उस समय काफी खुश थे। उसने भी अपने स्कूल की पढ़ाई पुरी की और हम दोनों पढ़ाई के लिए शहर  आ गए।

Read Also-International Women’s Day will be celebrated on 8th March. Getting good wishes from some special messages from social media| Today News 2022

Read Also-The Unfinished Love | Very Sad Love Story 2022

 

 

Leave a Comment

 


x